Home / Indian Font Stories / Sania School Girl- 1

Sania School Girl- 1

Hello, main hun Sania ji haan main hi hu aapki Sania bhabhi, main aaj aapko apne bachpan ki ek mast kahani sunane jaa rhi hu.. kaise mene bina padhai kiye exam pass kiya, mujhme to bachpan se hi ye kala aati hi kaise aapna kaam niklvana hain dusro se.. lijie padiye meri kahani

हमारा अब एक्साम्स का टाइम है.मैंने तो पूरा साल पदाई नहीं की.और अब मुझे डर लग रहा है की पास कैसे होउगी.लकिन मुझे ख्याल आया की मैं अपने टेअचेर सर रामप्रकाश जी से क्यूँ कह कर देखूं. ? उसकी ड्यूटी भी है हमारी क्लास में और उनकी काफी चलती हैवोह पहले भी नक़ल करवा चुके हैं.वोह हमे tution भी पढ़ते हैं.वैसे तो मैं ज्यादा उनसे tution क्लास्सेस नहीं लगही.लकिन अब पेपर पास होने की वजह से मैं रेगुलरली जाने लगी. मैं रोज़ येही सोचती की अपनी सिफार्श दाल दूँ उन्हें.लकिन मेरा दिल डरता की कहीं वो बुरा मान जाएँ और मेरा रोल no कैंसल करवा दें. इक दिन मेरा सबर टूट गया.मैंने पूरा मन बनाया की आज तो मैं जाकर कहूँगी ही.मैंने उस दिन सेक्सी ड्रेस पहनी.मैंने white टॉप और ब्लू jeans पहन के tution गयी ताकि सर रामप्रकाश जी मेरे शारीर पर रहम खा कर मेरी मदद करें और मैंने जब सबह बच्चे tution से चले गए तो मैंने उनसे पूछा की……….

सानिया —-सर रामप्रकाश जी आप से इक बात करनी है
सर रामप्रकाश जी —-हांजी बेटा बताओ
सानिया —— सर रामप्रकाश जी आप बुरा तो नहीं मानोगे ऩा.
सर रामप्रकाश जी –beta बच्चो का बुरा नहीं मानते
सानिया —Sir रामप्रकाश जी मैं आपसे यह कहना चाहती हूँ की आपको पता है की मैं पराही में थोड़ी कमज़ोर हूँ और मैं शायद पास भी ना हो पायुं…..इसलियी….
सर रामप्रकाश जी —haan बोलो बेटा क्या.
सानियासर रामप्रकाश जी आप मेरी कुछ मदद कर डोगे
सर रामप्रकाश जी —-बेटा मैंने नोट्स पूरे तैयार करवा दिए हैं ना
सानिया ——-सर रामप्रकाश जी वो नहीं आप….मुझे नक़ल करवा देंगे ना मुझे डर लगने लगा
सर रामप्रकाश जी-यह तुम क्या कह रही हो………नहीं मैं ऐसा नहीं करूँगा..
सानिया ——Sir रामप्रकाश जी प्ल्ज्जज्ज्ज्ज़………ये मेरे फुतुरे का सवाल है सर रामप्रकाश जी.प्लस
सर रामप्रकाश जी-नहीं यह गलत है ……..no pls
मैंने सोचा ऐसे बात नहीं बनेगी तो मैंने कहा
Sania—-सर रामप्रकाश जी आप जो मर्ज़ी मुझसे करवा लिगिये….मैं सबह करने को तैयार हूँ……प्ल्ज्जज्ज्ज्ज़ पर आप मुझे पास करवा दीजिये. pls सर रामप्रकाश जी मैं जान भुज कर सर रामप्रकाश जी के पेरों में गिरी थी और उनकी पेंट को पाकर हुआ था ताकि मेरा नरम हाथ उनकी बॉडी को महसूस हो
सानिया —-सर रामप्रकाश जी प्लज्ज्ज्ज़.आप जो काम कहेंगे मैं करुँगी.
सर रामप्रकाश जी- सोच लो…..
सानिया-सर रामप्रकाश जी जो मर्ज़ी……….pls
सर रामप्रकाश जी —bura तो नहीं मानोगी.
सानिया —-सर रामप्रकाश जी जो मर्ज़ी काम..बस मुझे पास करवा दो.
सर रामप्रकाश ji—-तुम मुझे खुश कर दो
मैं समाज गयी.
सानिया —–Sir रामप्रकाश जी आपका मतलब
सर रामप्रकाश जी —-देखो मैं जबरदस्ती नहीं करता
सानियाठीख है सर रामप्रकाश जी..लकिन मुझे पास जरूर करवा देना
सर रामप्रकाश जी की पतनीघर पर नहीं थी
सर रामप्रकाश जी-बेटी मेरे पास आओ.
मैं सर रामप्रकाश जी के पास चली गयी.
सर रामप्रकाश ji–beta मुझे खुश करना शुरू करो……..

  • Sania School Girl- 4
  • Sania School Girl- 3
  • Sania School Girl- 2
  • Sania School Girl- 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>

Scroll To Top